HINDI STORY

Hello friends is blog mei aap Ko Hindi story love story and magic story aur bahut si kahani padhne Ko milengi Thanks for visit our website


Wednesday, 11 March 2020

अलादीन का चिराग| Hindi Story

                    अलादीन का चिराग


Image source -Google -|Image by- megic box Hindi

  • बगदाद मे एक लड़का रहता था उसका नाम अलादीन था वह बहुत गरीब था । उसकी मां घर घर जा कर काम काज किया करती थी । अलादीन बहुत ही चालाक और शरारती था उसकी मां उस हमेशा समझाती रहती लेकिन वह कभी नहीं मानता वह हमेशा अपने दोस्तो के साथ बगदाद के जंगलों में घूमने निकल जाता था 

  • एक दिन जब वह अपने दोस्तो के साथ जंगल में सैर करने निकला और अपने दोस्तो के साथ जंगल में बहुत दूर निकल गया आखिर में एक पहाड़ी आई अलादीन ने अपने दोस्तो से के चलो दोस्तो उस पहाड़ी पर चलते हैं उसके दोस्तो ने कहा नहीं अलादीन इस पहाड़ी पर बहुत सारी बुरी आत्माएं रहती है अगर हम गए तो वह हमें मार डालेगी अलादीन बोला यह सब कहानियां हैं यहां कोई भूत - बूत नहीं है अगर तुम लोगो को मेरे पास आना है तो आओ वरना में अकेले ही वहा चला जाता हूं । सारे दोस्त वापस लोट गए और अलादीन  ने अकेले ही उस पहाड़ी पर जाने का फैसला किया । 


  • वह जैसे ही इस पहाड़ी के आया उस एक व्यक्ति मिला और उसने अलादीन से कहा "बेटा बेटा तुम बड़े बहादुर और नेक दिल लगते हो " जो ऊपर जाने की हिम्मत कर रहे हो। अलादीन ने पूछा चाचा ऊपर पहाड़ी पर ऐसा क्या है जो सब यहां आने से डरते हैं। उस बूढ़े व्यक्ति ने कहा के बेटा इस पहाड़ी पर एक गुफा है उस गुफा में बहुत से हीरे जवाहरात और सोने चांदी की चीजें हैं और और उस गुफा में सबसे कीमती चीज़ एक  चिराग है ।
  •  अलादीन सोचने लगा भला एक चिराग हीरे और सोने से ज्यादा कीमती और अनमोल कैसे हो सकता है उसने पूछा के चाचा उस चिराग में ऐसा क्या जो उस सबसे कीमती बनाता है ? उस व्यक्ति ने उत्तर दिया के उस चिराग में एक जिन कैद है जिसे एक जादूगर ने अपने  जादू से जिन को उस चिराग में कैद कर दिया है और उसने उस जिन पर ऐसा जादू किया है के जो भी उस चिराग हो हासिल करलेगा तो वह जिन उसकी सारी ख्वाहिशें पूरी करेगा वह उस जिन से जो भी मांगेगा जिन उसको लेकर देगा ।


  •  अलादीन ने सोचा अगर में उस चिराग को हासिल कर लूं तो में सारे बगदाद के गरीब लोगो का भला कर सकता हू। फिर अलादीन ने पूछा के  अगर ऐसा है तो अब तक उस चिराग को कोई हासिल करने क्यों नहीं आया ?उस व्यक्ति ने कहा के बहुत लोग इस चिराग को ढूंढने के लिए आए लेकिन उनकी नियत सिर्फ पैसे की थी और वह लालची थे इस वजह जो भी वहा गया कभी वापस नहीं आया क्यों के उस जादूगर ने इस गुफा को एक श्राप दिया है के जो भी यह सोने चंडिंकी तलाश में आएगा वह हमेशा के लिए यहां कैद हो जाएगा । लेकिन अगर कोई दूसरो के लिए यहां आए तो यह  सारा सोना और चिराग उसका हो जाएगा ।
  •  अलादीन ने कहा चाचा मै वहा जाना चाहता हूं मुझे अपने गांव के लोगो की गरीबी को दूर करने के लिए उस चिराग को चाहिए क्या आप मुझे वहां जाने का रास्ता बताएंगे ? उस व्यक्ति ने अलादीन को एक नक्शा दिया जिसमे वहां जाने का रास्ता था । बूढ़े व्यक्ति ने अलादीन से कहा के ध्यान रखना वहां क़दम क़दम पर खतरा हैनापना ख्याल रखना ।



  •  अलादीन पूरे जोश में पहाड़ी पर चढ़ने लगा और चड़ते चड़ते एक गुफा के मुंह तक पहुंच गया वहा से आवाज़ आई " यहां से चले जाओ वरना मारे जाओगे " अलादीन ने कहा "मैं वापस जाने के लिए नहीं आया हू मुझे अंदर जाना है मेरे रास्ते से हट जाओ फिर एक और आवाज़ आई के तुम्हे अंदर जाने के लिए एक सवाल का जवाब देना होंगा सही जवाब देने पर मै तुम्हे अंदर जाने दूंगा । लेकिन अगर तुम मेरे सवाल का जवाब नहीं दे पाए तो तुम्हे हमेशा के लिए यही कैद कर लिए जाओगे । अलादीन ने कहा मुझे मंजूर है । फिर आवाज़ ठीक है मैं सवाल पूछता हूं 

  • सवाल: बताओ ऐसी  कोन सी चीज़ है जो मारने के बाद भी इंसान का पीछा नहीं छोड़ती ? 
  • बताओ अलादीन ?
  • जवाब: अलादीन ने जवाब दिया वह इंसान के  आमाल (कर्म)हैं जो उसके मरने के बाद भी उसका पीछा नहीं छोड़ते हैऔर वह जब कभी याद किया जाता है या तो अच्छे आमाल (कर्म) से याद किया जाता है या पूरे कर्म से । इसी लिए इंसान को हमेशा अच्छे कर्म करना चाहिए ।
  • आवाज़ आई" तुम सच में एक सच्चे इंसान हो तुम अंदर जा सकते हो


  •  जब अलादीन गुफा के अंदर पहुंचा तो उसने सोने और हीरे जवहरात के ढेर देखे और कुछ लोग वहा काम कर रहे थे अलादीन ने उनसे बात करने की कोशिश की लेकिन शायद उन्हें किसी जादू ने अपने वश में किया हुआ था । वह आगे बड़ा और एक आग का तालाब आया उसने सोचा इसे कैसे पार करू तभी एक आवाज़ आई के अगर तुम सच्चे हो तो क़दम आगे बढ़ाओ रास्ता अपने आप बन जाएगा लेकिन अगर लालची हो तो इस आग के दरिया में गिर जाओगे । 

  • अलादीन आगे बढ़ा और जैसे ही उसने आग के दरिया पर अपना क़दम रख तो एक जादूई रास्ता बन गया और सामने एक सुनहरा चिराग चमकने लगा अलादीन चिराग के पास पहुंचा और उसने चिराग को जैसेभी उठाया वैसे ही अचानक ज़मीन हिलने लगी छत टूटने लगी अलादीन वहां से भागकर बाहर की तरफ आने लगा लेकिन गुफा का दरवाज़ा बंद हो गया था अलादीन यह देखकर घबरा गया और और सोचने लगा के अब में बाहर कैसे निकलू । तभी उसे उस बूढ़े व्यक्ति की बात याद आ गई उसने कहा था के जो तुम उस चिराग के जिन से मांगोंगे वह उस मांग को पूरा करेगा ।
Image source-Google-|Image by-hindi.pratilipi.com



  •  अलादीन ने उस चिराग से कहा के " ए चिराग के जिन मुझे यहां से बाहर निकाल " लेकिन कुछ भी नहीं हुआ उसने फि र दोहराया ए चिराग के जिन बाहर निकल और मेरा कहा पूरा कर । फिर भी कुछ नहीं हुआ  अलादीन सोचने लगा के शायद उस बूढ़े व्यक्ति ने मुझसे झूठ बोला था भला एक चिराग में एक जिन कैसे हो सकता है वह बहुत देर तक सोचने लगा और फिर उसकी नजर चिराग पर पड़ी चिराग अपने आप हिल रहा था वह यह देख कर हैरान रह गया उसने चिराग को अपने हाथ में उठाया और कहा "  चिराग के जिन बाहर आ और मुझे यहां से निकाल " लेकिन कुछ भी नहीं हुआ अलादीन ने उस चिराग पर कुछ लिखा देखा उसने अपने हाथ से चिराग के उस हिस्से को घिस कर साफ़ किया।
Image source-Google-|Image by-Youtubeizleindir

  • जैसे ही उसने चिराग को घिसा वैसे ही एक बड़ा सा नीले रंग का जिन उस चिराग से बाहर निकला और कहने लगा "जो हुक्म मेरे आका " आका बताइए आपका गुलाम आपकी क्या खिदमत कर सकता है ? अलादीन धरने लगा और एक पथर के पीछे छिप गया जिन ने कहा " मै आपका गुलाम हू आप मुझसे डरिए मत में आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचाऊंगा तभी अलादीन वापस आया और बोला के तुम्हारा नाम क्या है जिन ने कहा आका मेरे नाम जीनू है आपका शुक्रिया आपने मुझे इस चिराग से आजादी दी अब मैं आपका हमेशा गुलाम रहूंगा अलादीन ने कहा के मुझे तुम आका नहीं नहीं बल्कि अलादीन कहो और में तुम्हारा आका नहीं बल्कि दोस्त हू और अब तुम मुझे इस गुफा से बाहर ले चलो जिन ने कहा जो हुक्म मेरे आका ।

No comments:

Post a comment